Cryptocurrency Meaning In Hindi | Cryptocurrency के फायदे और नुकसान

क्या आपको भी जानना है की cryptocurrency Kya Hai और ये कैसे काम करती है इसके क्या फायदे और नुकसान है तो यह आर्टिकल आप सभी लोगो को अवश्य पढ़ना चाहिए।

आज के समय मे cryptocurrency काफी प्रचलन मे है और सभी लोगो को इसमें कुछ न कुछ पैसे लगा कर कमाने है। चलिए आपको एक रोचक बात बताता हु यदि आपने Bitcoin क्रिप्टोकोर्रेंसी मे साल 2002 के बाद कभी भी पसे लगाए होते तो आज आपके पास करोड़ो की संपत्ति हो जाती।

परन्तु अब पीछे जाके आप कुछ नहीं कर सकते तो क्यों न आज ही पहले Cryptocurrency meaning in hindi aur cryptocurrency kya hai इसे हिंदी सरल भासा मे समझ कर उसके बाद इसमें इन्वेस्ट करे।

तो स्वागत है आपका Hindi Gyan Blog मे यहाँ पर हम आपको सरल भासा मे क्रिप्टोकोर्रेंसी के बारे मे बताते है और इससे कैसे आप पैसे कमा सकते है इसकी जानकारी देते है। अब बिना आपका कीमती समय बेकार करते हुए हम सुरु करते है इस आर्टिकल को पूरा ज्ररूर पढ़िए गए इसमें हमने आपको कोण कोण सी बेस्ट Cryptocurrency है इस समय पे इन्वेस्ट करने को वो भी बताया है।

Cryptocurrency Meaning In Hindi

जैसे जैसे अपना देश और अपनी पृथ्वी digitally आगे बढ़ रही है इसी तरह पैसो ने भी डिजिटल रूप ले लिया है। और इसी डिजिटल पैसे को Cryptocurrency कहा जाता है

चलिए इसको और आसानी से समझते है। क्रिप्टोकोर्रेंसी एक डिजिटल और virtual करेंसी है जिसको आप छू नहीं सकते लेकिन इससे काम जो आप physical करेंसी से करते है वो सब काम आप डिजिटल करेंसी से कर सकते है।

यह कोई असली नोट या सिक्को की तरह नहीं होती जिसको आप अपने जेब मे या हाथ मे रख सकते हो इसको आपको आपको अपने डिजिटल wallet मे स्टोर करके रखना होता है। क्रिप्टोकोर्रेंसी को आप ऑनलाइन करेंसी भी कह सकते को क्युकी ये केवल ऑनलाइन exist करती है।

Cryptocurrency का concept अभी का नहीं है ये बोहोत पहले से चलता आ रहा है आगे आगे हम आपको बताएंगे ये क्रिप्टोकोर्रेंसी की जर्रूरत हमे क्यों पड़ी

आपको पता है क्रिप्टोकोर्रेंसी blockchain टेक्नोलॉजी पे काम करती है जो की बोहोत secure technology मानी जाती है। इस टेक्नोलॉजी की मदद से इसमें फ्रॉड होने की संभावना ना के बराबर होती है।

Cryptocurrency एक क्रिप्टोग्राफ़ी नामक टेक्नोलॉजी का उपयोग करती है जिससे बिटकॉइन की और साड़ी क्रिप्टोकोर्रेंसी का डुप्लीकेट बनाना ना मुमकिन है। इसलिये इसको काफी सिक्योर माना जाता है।

आशा करता हु अब आपके cryptocurrency meaning in hindi, cryptocurrency in hindi ऐसे सवालों के जवाब मिल गए होंगे और आप समझ गए होंगे की cryptocurrency kya hai तो चलिए अब आगे बढ़ते है और इसको लेकर कुछ और जानते है अगर आपको कुछ समझने में दिक्क्त आये या कुछ समझ न आये तो आप हमे कमेंट करके पूछ सकते हो।

Cryptocurrency Kese Bni

Cryptocurrency kese bani ये काफी पेचीदा सवाल है क्युकी इसका विकास काफी anonymously तरीके से हुआ लेकिन यहाँ पर मेने अपने रिसर्च से कुछ इनफार्मेशन निकला है क्रिप्टोकोर्रेंसी किसी बनी उसको लेके।

तो बात है 2009 की जब एक white paper रिलीज़ किया गया था इंटरनेट पे एक व्यक्ति द्वारा जिसका नाम सातोशी नाकामोतो बताया जाता है। उसने उस वाइट पेपर पर एक decentralized करेंसी यानी बिटकॉइन का जिक्र किया था।

अभी तक यह बात पता नहीं चल पायी है की बिटकॉइन जोकि पहली क्रिप्टोकोर्रेंसी थी उसका असली का मालिक बोलेतो बनाने वाला कौन है। उसके बाद बिटकॉइन का निर्माण हुआ और फिर इसका प्रचलन सुरु हुआ। माना जाता है की जिसने भी बिटकॉइन को बनाया वह बड़ा ही बुद्धिमान व्यक्ति है।

जैसा की आपको पता होगा की हमारी करेंसी यानी रुपया सरकार द्वारा control किया जाता है मतलब सरकार इससे कभी भी बदल सकती है जैसा की मोदी जी ने कर दिया था।

बिटकॉइन इसके विपरीत decentralized होके अपना काम करती है इसको किसी भी देश , सहर की सरकार या कोई भी organization कॉन्ट्रोल नहीं कर सकती। क्रिप्टोकोर्रेंसी लोगो से ही बनी है और लोगो द्वारा ही चलाई जाती है इसको कोई भी एक particular संस्था नहीं चला सकती।

अब आपको यह सुनके लगता होगा की इसके तो फायदे ही फायदे होंगे तो ऐसा नहीं है। निचे हम आपको इसके नुक्सान भी बताएंगे। आपको पता है कि बिटकॉइन कि total supply लिमिटेड है मतलब नए बिटकॉइन बनना एक टाइम पे खत्म हो जाएंगे। अब मुझे लग रहा है आप कंफ्यूज हो रहे होंगे।

तो मे बताता हु आपको कि बिटकॉइन और सारी Cryptocurrency को mine किया जाता है computers के द्वारा जिसस्ने नए बिटकॉइन बनते है और ये बिटकॉइन कि सिमा है 21 million

जिसका अर्थ है कि टोटल 21 मिलियन बिटकॉइन ही मार्किट मे उपलब्ध होंगे जिसको कि हम खरीद और बेच सकते है। तो आप सोचिओ के investment कैसे काम करती है demand एंड supply।

चुकी बिटकॉइन कि डिमांड बढ़ते जा रही है लेकिन इसका सप्लाई लिमिटेड है तो ज्ररूर ही फ्यूचर मे ये क्रिप्टोकोर्रेंसी खत्म होंगे mine होना तो इसका दाम और बढ़ेगा। तो अच्छा यही है कि इसको आज से ही खरीद कर रखे।

Cryptocurrency Kyu Banai Gayi

क्रिप्टोकोर्रेंसी को एक बोहोत ही बड़ी कमी को देखकर बनाया गया और वो कमी थी decentralization जीका अर्थ होता है बिना किसी रोक टोक के काम करना। आपको पता होगा की आप जब भी अपने घर , गांव पैसे भेजते हो तो बैंक उसपे नज़र रखती है। और बैंक अपने हिसाब से पैसे ट्रांसफर करने के पैसे काटती है।

तो क्रिप्टोकोर्रेंसी के द्वारा आप अपने पैसे ट्रांसफर कर सकते को बिना किसी middle man के। middle man यानी बैंक तो मध्यस्ता का काम करती है आपको पैसा ट्रांसफर करने मे। तो जैसे ही बिटकॉइन आई यह इतनी पॉपुलर हुए और इससे काफी हद तक बैंको को नुकसान भी हुआ और अब आप क्रिप्टोकोर्रेंसी के द्वारा पैसे का लेन देन कर सकते हो।

बिटकॉइन के बाद काफी और क्रिप्टोकोर्रेंसी मार्किट मे आई जिसको altcoin के नाम से जाना जाता है। आपको यह समझना होगा की जितने भी क्रिप्टोकोर्रेंसी मार्किट मे आये है वो किसी ना किसी समस्या को tackle करने यानी उसको दूर करने के लिए बने होते है। आपको पता है क्रिप्टोकोर्रेंसी भी कई प्रकार के होते है और सारे क्रिप्टोकोर्रेंसी अपनी किसी ना किसी काम के लिए बनाये जाते है। उदाहरण के तोर पर कहु तो बिटकॉइन मे transaction फीस काफी ज्यादा है तो उसको टैकल करने के लिए litecoin एक क्रिप्टो को बनाया गया। तो आई जानते है और अलग अलग क्रिप्टोकोर्रेंसी को और वो क्या क्या समस्याएं को दूर करते है।

तो देखा आप लोगो ने की cryptocurrency kyu banai gayi इसका निमार्ण कितने खास काम के लिए हुआ है और जहा तक मेरा विचार है यह आने वाले समय में काफी प्रचलित होने वाला है आपको क्या लगता है इसके विषय में कमेंट करके अवश्य बताये।

Bitcoin Ke Alawa Cryptocurrency Kon Kon Si Hai

बिटकॉइन एकमात्र क्रिप्टोकोर्रेंसी नहीं है जो exist करता है ऐसी 5000 से ज्यादा क्रिप्टोकोर्रेंसी है लेकिन आज हम उन सभी के बारे मे बात नहीं करेंगे आज हम प्रमुख क्रिप्टो मात्र बात करेंगे और हम ये भी बात करेंगे कई यह क्या problem का solution देती है।

अगर आप क्रिप्टोकोर्रेंसी मे इन्वेस्ट करना चाहते हो तो आप ये सारे क्रिप्टो का लम्बे समय तक hold करके इसमें इन्वेस्ट रह सकते हो। आपको अवस्य ही लम्बे समय के बाद अच्छा खासा profit हो जाएगा। यदि आपको नहीं पता कि आप कैसे क्रिप्टो मे इन्वेस्ट कर सकते हो तो हम नीचे आपको इसकी जानकारी भी देंगे आप उसकी मदद से आराम से इसमें इन्वेस्ट करके अच्छा income कर सकते हो।

बिटकॉइन के अलावा सारे ही क्रिप्टो का altcoin कहा जाता है आपको यह बात याद रखनी होगी। क्युकी आपको यह बात काफी और जगह भी दिखाई देंगी।

क्या आपने कभी सोचा कि हमे altcoin कि जर्रूरत क्यों पड़ी ? तो इसका जवाब है क्युकी बिटकॉइन सबसे पहला क्रिप्टो था तो यह पूरी तरह से कामयाब नहीं था इसमें काफी कमिया थी जिसको एड्रेस करना भी जर्रूरी था और वो काम altcoin ने कर दिखाया। altcoin को आप आसान भाषा मे alternate coin कह सकते हो। तो चलिए अब altcoin कि लिस्ट को देखते है।

Ethereum

Ethereum दूसरी सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकोर्रेंसी है जिसको worldwide उसे किया जाता है । इसको 2015 मे launch किया गया था और यह बिटकिन से इस रूप मे अलग है। एथेरेयम एक स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट का इस्तेमाल करता है। जोकि ट्रांसक्शन को सफल करने मे सहायक है। एथेरेयम पे आप अपना खुद का decentralized app भी बना सकते हो पर इसके लिए आपको उसकी knowledge होना बोहोत जर्रूरी है।

Ethereum मे भी आपको ज्ररूर इन्वेस्ट करना चाहिए क्युकी ये काफी पॉपुलर ब्लॉकचैन है और इसको रेला लाइफ मे भी काफी उसे होता है। सोचिये अगर election blockchain based टेक्नोलॉजी पे हो तो कितना अच्छा होगा। इसका ब्लॉक क्रिएशन टाइम 25 सेकंड है जानिए ब्लॉक क्रिएशन का होता है निचे के पैराग्राफ पे।

Litecoin

Litecoin टॉप 5 क्रिप्टोकोर्रेंसी मे आता है मार्किट capitalization को लेके तो यह भी काफी अच्छा क्रिप्टोकोर्रेंसी है इन्वेस्ट करने के लिए। आपको इसके फीचर्स पता है कि ये क्यों बनाया गया था।

यह क्रिप्टो को 2011 मे लांच किया गया था। और यह क्रिप्टोकोर्रेंसी काफी हद तक बिटकॉइन कि तरह ही काम करता है इसके कुछ important difference है चलिए जानते है। इस कॉइन कि सप्लाई भी लिमिटेड है बिटकॉइन कि ही तरह लेकिन इसका सप्लाई बिटकॉइन से ज्यादा है जोकि है 84 million।

block creation टाइम litecoin का काफी कम है बिटकॉइन से जोकि है सिर्फ 2.5 minute इसको बिटकॉइन से compare करे तो यह काफी कम है बिटकॉइन मे एक block बनने मे 10 min लगते है। block creation का मतलब होता है कि एक सम्पूर्ण transaction का proof। हर ट्रांसक्शन एक ब्लॉक मे जाके सेव होता है उसी को block creation टाइम कहा जाता है।

Ripple

आपको पता है बैंक भी Ripple क्रिप्टोकोर्रेंसी का इस्तेमाल करते है क्युकी यह एक cross border platform कि तरह काम करती है। इस तरह ये क्रिप्टो और भी खास बन जाता है।

Ripple क्रिप्टो का ब्लॉक क्रिएशन टाइम सबसे कम है उप्पेर दिए गए सभी क्रिप्टोकोर्रेंसी से भी कम और जो है सिफर 4 सेकंड। सोचो कितना कम टाइम है इतने टाइम मे एक ट्रांसक्शन पूरा हो जाएगा। इसको हम आसानी से अपने डे to डे लाइफ मे भी उसे कर सकते है और धीरे धीरे काफी financial institution इसका उपयोग कर रहे है अपने ट्रांसक्शन को और सिक्योर और फ़ास्ट करने के लिए। तो चलिए अब जानते है कि क्रिप्टोकोर्रेंसी के क्या फायदे और नुकसान है।

Cryptocurrency के फायदे और नुकसान

क्रिप्टोकोर्रेंसी के वैसे तो काफी फायदे और काफी नुकसान है परन्तु हम आपको अभी इसके मुख्य फायदे और नुकसान बताएंगे। तो सुरुआत फायदे से करते है।

Cryptocurrency के फायदे

1 क्रिप्टोकोर्रेंसी से आप decentralized रहकर सभी पैसो का लेन देन कर सकते हो।

2 इसमें आपको लेन देन करते वक़्त बैंक के जितना चार्ज नहीं देना होगा कुछ कुछ क्रिप्टोकोर्रेंसी मे तो ट्रांसक्शन फीस ना के बराबर है।

3 क्रिप्टो के transaction सेफ और पूरी तरह से सिक्योर होते है।

4 इसके ट्रांसक्शन बैंक के ट्रांसक्शन से फ़ास्ट होता है यानी आप जल्दी अपना पैसा एक देश से दूसरे देश मे भेज सकते हो।

5 इससे आप anonymous होके पैसे ट्रांसफर कर सकते हो।

Cryptocurrency के नुकसान

1 इसका सबसे बड़ा नुक्सान है anonymous रह कर पैसे का लेन देन करना क्युकी इससे पैसो को कहा उसे किया गया है इसका पता नहीं चलता। ये भी नहीं पता चल सकता कि पैसा कुछ गलत काम के लिए तो नहीं उसे किया गया जैसे कि terrorist को fund करना।

2 बिटकॉइन को dark web मे उसे किया जाता है जिसमे पूर्ण रूप से गलत आदमी भरे पडे है वहां पे आप ड्रग्स , गन सब खरीद सकते को बिटकॉइन के द्वारा जोकि ठीक नहीं है।

3 और इसका प्रॉब्लम यह भी है कि क्रिप्टो को कोई regulate नहीं करता तो इसमें जिसने सबसे ज्यादा मात्रा मे कोई कॉइन खरीद रखा है वह मार्किट manipulate कर सकता है।

Cryptocurrency Kese Kharide

चलिए अब सबसे important टॉपिक पे आते है कि कैसे आप Cryptocurrency Kese Kharide या cryptocurrency me kese invest kare |

क्रिप्टोकोर्रेंसी मे आपको इन्वेस्ट करने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज मे अपना अकाउंट खोलना पड़ेगा जोकि काफी आसान है। बस आपको अपनी डिटेल्स भरनी है और बस। फिर वो एक्सचेंज वाले आपका अकाउंट रिव्यु करेंगे और उसको थोड़े टाइम बाद फुल्ली एक्टिवटे कर देंगे जिससे आप अब आसानी से रूपपए मे क्रिप्टो खरीद सकते हो।

मे आपको भारत का सबसे अच्छा और simple यूजर इंटरफ़ेस वाला क्रिप्टो एक्सचेंज बताता हु जिसपे आप अपना अकाउंट आसानी से खोल सकते हो। एक्सचेंज का नाम है Coinswitch Kuber यह भारत है सबसे प्रशिद्ध क्रिप्टो एक्सचेंज है जिसमे आप सैकड़ो क्रिप्टो खरीद सकते हो। इसका अकाउंट बनाना काफी सरल है। और आपको एक खास बात बताऊ अगर आप मेरे लिंक से इस्पे अपना अकाउंट खोलोगे तो आपको फ्री मे 50 रूपपए का बिटकॉइन मिलेगा। यह रहा मेरा लिंक https://coinswitch.co/in/refer?tag=5zxz

यदि आपको क्रिप्टोकोर्रेंसी और बिटकॉइन खरीदने की पूरी प्रक्रिया जानना हो तो इस्पे जाये https://www.hindigyanblog.com/bitcoin-kaise-kharide/ इस आर्टिकल में हमने और डिटेल में समझाया है और इसमें आपको अलग अलग क्रिप्टो एक्सचैंजेस का भी पता चलेगा।

FAQ

क्रिप्टोकोर्रेंसी में कैसे निवेश करे ?

क्रिप्टोकोर्रेंसी काफी रिस्की एसेट माने जाते है इसलिए आपको क्रिप्टोकररेंस में केवल उन्ही क्रिप्टो पर पैसा लगाना चाहिए जिनका मार्किट कैपिटलाइजेशन सबसे अधिक हो जैसे बिटकॉइन एथेरेयम रिप्पल मोनरो इत्यादि। लेकिन कभी भी क्रिप्टो में निवेश करने के लिए अपना रिसर्च अवश्य करे। और अपने निवेश को घाटे में एवरेज करते रहे।

क्रिप्टोकोर्रेंसी का क्या भविष्य है।

क्रिप्टोकोर्रेंसी आने वाले समय की करेंसी है यह फ्यूचर टेक्नोलॉजी ब्लॉकचैन पर आधारित है। इसका भविष्य तो उज्वल है लेकिन आपको निवेश के लिए इसमें हमेशा अपना ऐसा पैसा लगाए जो खो जाने पर भी आप को ज्यादा असर ना पडे। क्युकी क्रिप्टो में रेगुलेशन ना होने की वजह से आए दिन नए नए स्कैम होते रहते है।

क्या भारत में क्रिप्टो बैन है?

जी नहीं भारत में क्रिप्टो बैन नहीं है लेकिन आप इसका उपयोग लीगल टेंडर के रूप में नहीं कर सकते जिसका अर्थ है आप इसमें केवल निवेश कर सकते है इसको किसी सामान के खरीद बिक्री के लिए उपयोग नहीं कर सकते। भारत में RBI ने अपना CBDC रुपया ₹ निकाला है। जिसका अर्थ है की भारत भी दुनिया से टेक्नोलॉजी में कदम से कदम बढ़ा रहा है।

Conclusion

इस आर्टिकल से आप सिंपल conclusion निकल सकते हो कि क्रिप्टोकोर्रेंसी future मे ज्ररूर आगे आएँगे और इसका रेट अवस्य ही बढ़ता रहेगा तो क्यों ना आज से और अभी से ही इसके बारे मे सिख कर इसमें इन्वेस्ट कर लिया जाये। तो यह था आज का पूरा आर्टिकल आसा करता हु कि आप अब आसानी से समझ गए होंगे कि Cryptocurrency क्या है , ये कैसे काम करता है और क्रिप्टोकोर्रेंसी के क्या फायदे और नुकसान है। अगर आपको कोई प्रॉब्लम है और यदि कुछ पूछना है तो कमेंट करके बता दीजिये हम आपको समस्या को जल्द से जल्द दूर कर देंगे।

आशा करते है की आपको यह आर्टिकल पसंद और ज्ञानपूर्ण लगा होगा अगर आपको अभी भी कुछ डाउट हो cryptocurrency को लेकर या आपको cryptocurrency kya hai इसको लेकर कुछ पूछना हो तो कमेंट सेक्शन आपके लिए सदैव खुला है आप वह पर अपने सवाल पूछ सकते हो और अगर हमसे पर्सनली कोई सवाल पूछना चाहते हो तो हमारे टेलीग्राम चैनल पे पूछ सकते हो https://t.me/hindigyanblog

1 thought on “Cryptocurrency Meaning In Hindi | Cryptocurrency के फायदे और नुकसान”

Leave a Comment