The Intelligent Investor PDF in Hindi (द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर) Download

The Intelligent Investor इन्वेस्टिंग की सबसे पसंदीदा पुस्तक में से एक है। यह पुस्तक आपके investing journey को और बेहतर बना सकता है। आज हम आपको the intelligent investor pdf in hindi प्रदान करेंगे जिससे आप download कर आसानी से पढ़ सकते है।

the intelligent investor book benjamin graham द्वारा लिखी गयी एक किताब है जिसमे आप शेयर बाजार का ज्ञान प्राप्त होता है। यह काफी डीप नॉलेज देता है stock market के प्रति।

चलिए अब अधिक समय ज़ाया ना करते हुए आज का यह शानदार ब्लॉग सुरु करते है जिसमे आपको सिखने को मिलेगा the intelligent investor book pdf in hindi। यहाँ हम आपको इस book से आप क्या क्या सीखेंगे वह भी बताएंगे।

The Intelligent Investor in Hindi

The Intelligent Investor एक बहुत महत्वपूर्ण किताब है निवेश के बारे में। इसे बेंजामिन ग्राहम ने लिखा था, जो एक प्रसिद्ध अर्थशास्त्री और निवेशक थे, और यह किताब पहली बार 1949 में प्रकाशित हुई थी।

इसमें ग्राहम ने निवेश के मूल सिद्धांत और तरीके बताए हैं, जो सफल निवेश के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने मूल्य निवेश के बारे में बात की है और बाजार में एक अनुशासित और तर्कसंगत दृष्टिकोण की महत्वपूर्णता पर जोर दिया है।

चलिए अब समझते है की आपको the intelligent investor pdf in hindi में क्या क्या पढ़ने को मिलेगा। यदि आप सम्पूर्ण book नहीं पढ़ना चाहते है तो आप निचे दिए गए points से समझ सकते है की यह पुस्तक आपको क्या सिख देगा।

The Intelligent Investor by Benjamin Graham in Hindi PDF

यह रहा the intelligent investor summary in hindi, इसके पश्चात् हम आपको इसका free download लिंक देंगे। यहाँ पर हम आपको The Intelligent Investor Book Key Points in Hindi बताएंगे।

1) मूल्य निवेश (Value Investing)

मूल्य निवेश का मतलब होता है कि निवेशकों को ऐसे संयंत्रों का चयन करना चाहिए जो उनके वास्तविक मूल्य से कम कीमत पर उपलब्ध हों। यह उन्हें उन स्टॉक्स की खोज करने की सलाह देता है जो बाजार में अधिक मूल्यवान कंपनियों की तुलना में कम कीमत पर उपलब्ध होते हैं। जब निवेशक सस्ते मूल्य वाले स्टॉक्स खरीदते हैं, तो वे उन्हें निवेश करने का मौका प्राप्त करते हैं, जिससे उन्हें अधिक लाभ हो सकता है।

इसका मुख्य लक्ष्य है कि निवेशकों को उन कंपनियों का चयन करना चाहिए जो अपेक्षित संचालन प्रणाली और आर्थिक स्थिति के साथ मूल्य निवेश के सिद्धांतों के अनुसार स्थिर हों। यह एक धीमा और स्थिर निवेश प्रणाली को प्रेरित करता है जो निवेशकों को बाजारी उतार-चढ़ावों के मुकाबले समृद्धि प्राप्त करने में मदद कर सकती है।

2) सुरक्षा की सीमा (Margin of Safety)

सुरक्षा की सीमा का मतलब होता है कि निवेशकों को केवल उन निवेशों में पैसा लगाना चाहिए जो उन्हें वास्तविक मूल्य से कम मूल्य पर मिल रहे हों, ताकि उन्हें नुकसान का जोखिम कम हो। यह सिद्धांत निवेशकों को उन स्टॉक्स के बारे में सोचने के लिए प्रेरित करता है जो उन्हें एक सुरक्षित और स्थिर निवेश का महसूस कराते हैं।

जब निवेशक एक सुरक्षित सीमा का ध्यान रखते हैं, तो वे अपने पूंजी के साथ अधिक संवेदनशीलता और सुरक्षितता महसूस करते हैं। इस सिद्धांत के अनुसार, निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो को ध्यानपूर्वक डिवर्सीफाई करने की आवश्यकता होती है ताकि किसी एक से अधिक निवेश के नुकसान के खतरे को कम किया जा सके।

3) बाजार की मानसिकता (Market Psychology)

इस बिंदु में, ग्राहम हमें बताते हैं कि बाजार कैसे व्यवहार करता है और इसकी मानसिकता कैसी होती है। उन्होंने एक व्यक्ति का उदाहरण दिया है जिसे वे “मिस्टर मार्केट” कहते हैं। यह व्यक्ति बाजार के उतार-चढ़ाव को प्रतिनिधित करता है। इसका मतलब है कि बाजार कभी-कभी उत्तेजित (Bullish) होता है और कभी-कभी डरावना (Bearish) दिखाता है।

इसका अर्थ है कि बाजार के मूड बदल सकते हैं, और यह निवेशकों के निवेश निर्णयों को प्रभावित कर सकता है। ग्राहम की सलाह है कि निवेशकों को इस मानसिकता को समझना और इसके साथ निवेश करने की तैयारी करनी चाहिए। वे बाजार के उतार-चढ़ावों का सामना करने के लिए तैयार रहने की सलाह देते हैं और सही समय पर निवेश करने की सलाह देते हैं।

4) निवेश बनाम स्पष्टीकरण (Investment vs. Speculation)

इस बिंदु में, ग्राहम हमें बताते हैं कि निवेश और स्पष्टीकरण में क्या अंतर होता है। निवेश का मतलब है धीमा और स्थिर रूप से पैसा लगाना, जो निवेशकों को आर्थिक सुरक्षा देता है। वहीं, स्पष्टीकरण का मतलब है छोटी अवधि में पैसा लगाना, जो अधिक जोखिमपूर्ण होता है।

ग्राहम के मुताबिक, हमें हमेशा धीमे निवेश को पसंद करना चाहिए, जो कम जोखिम और स्थिर लाभ प्रदान करता है। उन्हें स्पष्टीकरण से बचने की सलाह दी जाती है, जो केवल छोटे समय के लिए अधिक लाभ के लिए हो सकता है, लेकिन अक्सर नुकसान भी प्राप्त हो सकता है।

5) रिस्क प्रबंधन (Risk Management)

निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो को विविध बनाना चाहिए और किसी भी सुरक्षा में निवेश करने से पहले गहराई से विश्लेषण करना चाहिए।

यह मतलब है कि निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो को अलग-अलग प्रकार की संपत्तियों में बाँटना चाहिए ताकि उनका जोखिम बाँटा जा सके और वे सुरक्षितता का अधिक स्तर प्राप्त कर सकें।

साथ ही, किसी भी सुरक्षा में निवेश करने से पहले, निवेशकों को उसकी अच्छी तरह से जांच करनी चाहिए ताकि वे समझ पाएं कि वह कितना जोखिमपूर्ण है और उसकी संभावित लाभ-हानि क्या हो सकती है।

कैसा लग रहा है आपको यह the intelligent investor pdf in hindi पढ़कर हमसे कमेंट में साझा करे। यदि आप इससे ही अन्य पुस्तक पढ़ना चाहते है तो निचे दिए गए पुस्तक देखे।

Rich Dad Poor Dad Hindi PDF

Stock Market Made Easy Free Course

6) रक्षात्मक और प्रयासी निवेशक (Defensive vs Enterprising Investors)

ग्राहम ने निवेशकों को दो वर्गों में विभाजित किया है। रक्षात्मक निवेशकों को वे कहते हैं जो कम जोखिम और सक्रियता की कमी के साथ निवेश करना पसंद करते हैं, जबकि प्रयासी निवेशक अधिक जोखिम उठाने के लिए तैयार होते हैं जिससे उन्हें प्रत्याशित उच्च लाभ हो सकता है।

सरल शब्दों में, रक्षात्मक निवेशक वह होते हैं जो अधिक जोखिम लेने के बजाय कम जोखिम वाले निवेश को पसंद करते हैं। उनका उद्देश्य होता है पैसे को सुरक्षित रखना। प्रयासी निवेशक वह होते हैं जो अधिक लाभ के लिए अधिक जोखिम लेने को तैयार होते हैं। उनका उद्देश्य होता है अधिक लाभ कम समय में प्राप्त करना।

7) बाजार की परिस्थितियों में उतार-चढ़ाव (Market Fluctuations)

जब बाजार में गिरावट होती है, तो बहुत सारे स्टॉक्स के मूल्य कम हो जाते हैं। इस समय पर, यदि निवेशक समझदारी से काम करते हैं, तो वे उन स्टॉक्स को चुन सकते हैं जो अपने वास्तविक मूल्य से कम मूल्य पर बिक रहे हों। यह मौका होता है कि उन्हें उन स्टॉक्स को खरीदने का मौका मिलता है जिनमें वास्तविक मूल्य की तुलना में कम मूल्य है।

जब बाजार में चढ़ाव होता है, तो कई स्टॉक्स के मूल्य बढ़ जाते हैं। इस समय पर, यदि निवेशक अपने स्टॉक्स को उन्हीं स्तर पर बेचते हैं जिन पर उन्होंने उन्हें खरीदा था, तो उन्हें अच्छा मुनाफा हो सकता है।

ग्राहम यहाँ यह सलाह देते हैं कि निवेशकों को बाजार के उतार-चढ़ाव का उपयोग करके विवेकपूर्ण निवेश करने का प्रयास करना चाहिए, ताकि वे बाजार की समझ और मूल्य गतिविधियों का सदुपयोग कर सकें।

8) दीर्घकालिक दृष्टिकोण (Long-Term Perspective)

जब हम निवेश करते हैं, तो बहुत बार हम छोटी अवधि में होने वाली बाजारी उतार-चढ़ाव की वजह से अपने निवेशों पर ध्यान केंद्रित कर लेते हैं। लेकिन ग्राहम के अनुसार, असली मूल्य तो हमारे निवेश के मूल्य की अधिकांश में छिपा होता है, जो दीर्घकालिक सोच के साथ ही दिखता है।

दीर्घकालिक दृष्टिकोण से तात्पर्य है कि हमें अपने निवेशों को देखने का एक लंबा समयावधि में दृष्टिकोण रखना चाहिए। बाजार की छोटी-मोटी गतिविधियों से अपने मन को प्रभावित नहीं होने देना चाहिए। बल्कि, हमें अपने निवेश के लिए मौल्य को बढ़ावा देना चाहिए और उन मौल्यांकनों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए जो उसके लंबे समयावधि में स्थिरता और वृद्धि का प्रतीक हों।

दीर्घकालिक दृष्टिकोण रखने से हम अपने निवेश के मूल्य को सही संदर्भ में देख सकते हैं और अपने निवेशों के लिए सही निर्णय ले सकते हैं। यह हमें बाजार की अस्थिरता से बचाता है और हमें एक दृढ़ निवेश योजना बनाने में मदद करता है।

9) धैर्य और अनुशासन (Patience and Discipline)

धैर्य और अनुशासन दो महत्वपूर्ण गुण हैं जो निवेश में सफलता के लिए आवश्यक हैं। धैर्य का मतलब है कि निवेशक को अपने निवेश के परिणामों के लिए इंतजार करना चाहिए, चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक। बाजार में उतार-चढ़ाव हमेशा होते रहते हैं, और धैर्य से निवेशक को इसे स्वीकार करते रहना चाहिए।

अनुशासन का मतलब है कि निवेशक को अपनी निवेश रणनीतियों और योजनाओं का पालन करना चाहिए। बाजार में उतार-चढ़ाव आने पर, निवेशकों को अपनी वित्तीय नीति से हटकर नहीं निकलना चाहिए। इसके बजाय, उन्हें अपने निवेश में स्थिरता बनाए रखनी चाहिए और अपने निवेश रणनीतियों के साथ निष्ठा बनाए रखनी चाहिए।

धैर्य और अनुशासन निवेशकों को बाजारी हलचलों के प्रति संतुलित और सटीक दृष्टिकोण बनाए रखने में मदद करते हैं, जो उन्हें अपने निवेश के लिए सही निर्णय लेने में सक्षम बनाते हैं। इसके बिना, भावनात्मक प्रतिक्रियाओं के कारण निवेशक अक्सर गलत निर्णय लेते हैं, जिससे उनके निवेश को नुकसान हो सकता है।

10) निरंतर शिक्षा (Continuous Learning)

निरंतर शिक्षा का मतलब है कि निवेशक को समय-समय पर नई जानकारी प्राप्त करने और बाजार में हो रहे बदलावों का अध्ययन करते रहना चाहिए। निवेश के क्षेत्र में तेजी से तकनीकी, आर्थिक और सामाजिक परिवर्तन होते रहते हैं, और यहाँ तक कि बाजारी तंत्र में भी परिवर्तन होते रहते हैं।

निवेशकों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे नए तथ्यों और बाजार की ताजा जानकारी को समझें ताकि वे समय-समय पर निवेश के लिए उचित निर्णय ले सकें। ध्यान देने वाले निवेशक अपनी निवेश रणनीतियों को समय-समय पर अनुकूलित कर सकते हैं ताकि वे बाजार की नई प्रतिक्रियाओं और संदेशों को समझ सकें और उनके निवेश के लिए उचित उत्तर दे सकें।

इसके अलावा, निवेशकों को अपने गलतियों से सीखना और उन्हें सुधारने का भी प्रयास करना चाहिए। निवेश के दौरान होने वाली गलतियों के बारे में सीखते रहना और उन्हें दोहराने से निवेशक अपनी निवेशक क्षमताओं को सुधार सकते हैं और अधिक समझदार निवेशक बन सकते हैं।

तो यह है दस पाठ जो आपको the intelligent investor book pdf in hindi में देखने को मिलेंगे। चलिए अब इस book के free download लिंक की और प्रस्थान करते है।

The Intelligent Investor Book in Hindi PDF Free Download

यह बुक डाउनलोड करने के लिए आपको निचे दिए गए टेबल पर Download Link मिल जाएगा। लिंक पर क्लिक करने के बाद आपको यह google drive पर ले जाएगा यहाँ से आप इस पुस्तक को आसानी से डाउनलोड कर सकते है।

Book NameThe Intelligent Investor
LanguageHindi
Pages136
CategoryEducation, Stock Market
DownloadLink

FAQ

The Intelligent Investor Book is Suitable For?

“The Intelligent Investor” book is suitable for anyone interested in learning about investing wisely. Whether you’re a beginner or an experienced investor, a student studying finance, or a professional in the industry, this book provides valuable insights and practical advice to help you make smart investment decisions. If you’re looking to grow your wealth over the long term and achieve financial stability, “The Intelligent Investor” is a must-read.

The Intelligent Investor Book in Hindi Price?

On Amazon The Intelligent Investor Book in Hindi Price is around 800₹, But its still worthy to spend 800₹ to read this masterpiece. You can get its PDF Free from HindiGyanBlog.

क्या The Intelligent Investor पढ़ने लायक है?

हाँ, “द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर” पुस्तक पढ़ने लायक है। यह पुस्तक नए और अनुभवी निवेशकों के लिए उपयुक्त है, साथ ही छात्रों और वित्त संबंधित पेशेवरों को भी लाभान्वित कर सकती है। यहां निवेश के मूल तत्वों और उनके प्राचीन सिद्धांतों को समझाने के लिए सरल और समय से प्रमाणित उपाय प्रस्तुत किए गए हैं, जो निवेशकों को उनके निवेश निर्णयों को सही दिशा में ले जाने में मदद कर सकते हैं।

Today’s Learning (आज आपने सीखा)

द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर (The Intelligent Investor) निवेश की किताबों में एक अनमोल संस्थान के रूप में उभरती है। बेंजामिन ग्राहम के समझदार विचार और स्थायी सिद्धांत आज भी निवेशकों को आर्थिक सफलता की दिशा में मार्गदर्शन करते हैं।

इसके माध्यम से, निवेशक निवेश के प्रति सही दृष्टिकोण बनाते हैं और अपने निवेश निर्णयों को सावधानीपूर्वक लेते हैं। इस पुस्तक में दिए गए सिद्धांतों को अपनाकर, व्यक्ति आर्थिक सुरक्षा की दिशा में अधिक प्रगति कर सकता है।

यह बुक आपके financial freedom की journey में एक अच्छा साथी बन सकता है। इसलिए एक बार इस बुक को अवश्य पढ़े।

तो कैसा लगा आपको आज का यह ब्लॉग , आशा करते है आपको यह पढ़ने में आनंद आया हो। अब आप the intelligent investor pdf in hindi आसानी से free में download कर पढ़ सकते है।

यदि इस पुस्तक से जुड़े आपके मैं में कोई सवाल हो तो आप हमसे कमेंट में साझा करे धन्यवाद्।

Leave a Comment